घर में अचानक से बेहोश होने के तीन दिन बाद कैसे होश आया - Unconscious Patient Nursing Care

2 Views
Published
3 सेकेंड में बेहोश - Trying Chloroform Myself | Myth Busted
Video of 14 years old young girl unfortunately unconscious state while eating dinner at home
अचानक बेहोश हो जाना

Contact Us - 6399001234
Website - http://www.saisukhdahospital.com/
Instagram - instagram.com/saisukhda.bareilly

बेहोश कर के | Entertainment First Exclusive
किसी के ‘अचानक ही बेहोश’ होने पर सब लोग अपनी-अपनी समझ से कुछ भी करने लगते हैं. लेकिन यह अराजक माहौल बेहोश मरीज का नुकसान ही करता है. यदि हम बेहोशी की बीमारी के कारणों के मायाजाल को ठीक से समझ लें और फिर उस के हिसाब से प्राथमिक उपचार आदि देकर सावधानीपूर्वक मरीज को डॉक्टर तक अविलंब ले जा सकें तो यह बड़ा काम कहलाएगा. यहां मैं आपको बेहोशी के कार्य-कारण से जुड़े मैकेनिज्म की कुछ बुनियादी बातें बताने की कोशिश करूंगा.
.
behosh ko hosh me kaise laye - बेहोश व्यक्ति को होश में लाने का प्राथमिक उपचार| acupressure points for relieving fainting

मोटे तौर पर यह मान लें कि बेहोशी का मतलब है - मस्तिष्क (दिमाग) का काम करना बंद हो जाना. लेकिन ये बंद क्यों हो जाता है? दिमाग को काम करते रहने के लिए ताकि आप निरंतर होश में रहें, लगातार रक्त की पूर्ति होनी चाहिए. रक्त न मिला या रक्त प्रवाह में रुकावट बनी हो तो चंद सेकंड में ही दिमाग काम करना बंद कर देता है और आदमी बेहोश हो जाता है.

Unconsciousness is generally caused by a temporary or permanent impairment of either the reticular activating system in the brainstem, both cerebral hemispheres, or bilateral thalami. The causes for an unconscious patient can be differentiated into structural pathology local to the brain or systemic pathology. This activity describes the risk factors, evaluation, and management of unconscious patients and highlights the role of the interprofessional team in enhancing care delivery for affected patients.
Category
Management
Be the first to comment